DigitalSwarn https://digitalswarn.com Blogging Made Easier Wed, 02 Sep 2020 17:59:46 +0000 en-US hourly 1 https://wordpress.org/?v=5.5.3 https://i1.wp.com/digitalswarn.com/wp-content/uploads/2020/07/Swarn-Jain.png?fit=32%2C32&ssl=1 DigitalSwarn https://digitalswarn.com 32 32 181059372 10 Things You Need To Know Before Your Start Paper Trading https://digitalswarn.com/10-things-you-need-to-know-before-your-start-paper-trading/ https://digitalswarn.com/10-things-you-need-to-know-before-your-start-paper-trading/#respond Wed, 02 Sep 2020 17:59:44 +0000 https://digitalswarn.com/?p=304

The banking and finance industry has been among the most rewarding ones. The developments within the capitalist economy are accredited to the robust banking and financial infrastructure. People are often lured in by the rich lifestyle of investment bankers and traders who make fortunes with their skill set. 

Well, the grass always looks greener on the other side. In reality, a lot of hard work and dedication goes into earning that fat cheque, and it’s far from easy. It requires discipline and drive to achieve your goal. Let’s dig deeper into trading and take a look at the prerequisites before you decide to pursue it as a career.

What is Paper Trading?

Paper trading is the most rudimentary step in the trading profession. In the most basic sense, paper trading can be understood as day trading without actual money. The practice of paper trading originated from the stock market, where investors who wanted to practice trading used to write their investment in papers and follow the market movements. 

This not only prepared them to be a good trader but also helped them save tons of money in the early stages. Paper trading is among the popular tools and tricks offered by brokers to help beginners improve their trading skills. In the contemporary world, there are many paper trading apps like Alpaca that use cutting-edge technology to help you assess your performance without losing money. 

In the online trading world, it is also termed as trading on a demo account. The trading industry is very volatile, and the majority of people fail initially. The expert traders know all the hacks that exist in the trading world, like wash sales that have major tax benefits for investors. Eventually, you will learn all the secrets of the trading world. Here are a few prerequisites that you should be aware of before jumping into the world of trading, which starts with paper trading.

Establish a Trading Discipline

This is the most important thing to consider before starting with trading. Paper trading is the closest thing to the real trading experience. You need to be disciplined with your trading habits; it will help you save a lot of money when you start with live trading. 

paper trading app

Before jumping into live trading, you should be able to replicate the N number of trades with the same strategy. N here is the total number of successful trades with the same strategy. The higher the N, the better you get. 

Don’t Reset Your Account Balance

You should never reset your paper trading account balance. Even if you go into virtual debt, you should focus on recuperating instead of taking the easy way out and restarting the trade. 

Remember that it’s not a game, you will be doing this in real life and the real world losses won’t have a reset option. Bouncing back from the losses will give you a boost to start your live trading successfully. It will help you boost your confidence.

Earn The Amount Required For Live Trading 

The amount of capital that you decide to put into your live trading account should not be based on how wealthy you are and how much you can afford to lose. It should be based on how much profit you can earn with your paper trading account. The more you earn with your demo account or virtual account, the more you should invest in your live trading accounts.

Start With a Realistic Capital

Most virtual accounts give you a large sum of capital to start with. Instead of moving ahead with this unrealistically large sum, you should start with a smaller amount that you will invest in live trading sessions. This will give you a realistic estimate of profits that you can earn with your live sessions and help you grow gradually into an expert trader. 

Create a Slippage Account

Slippage can be understood as a cost of trading. It is usually very nominal but might affect you when the trading volume is high. Slippage is the difference between the price you expect to pay for security while placing a trade and what you pay for the same. 

For example, when you place an order for a stock trading at $40, and it is executed at $40.20, the difference of $0.20 is the slippage amount. Creating a slippage account will get you more appropriate profit estimates. 

Evaluate Trading Commissions

Brokerage and commissions have some impact on the real profit you earn. You should check the commission of your broker and add it in your paper trading books to keep a more realistic estimate of the income and expenditure generated from the trading process.

Use Real-Time Data

Most of the virtual trading simulators or paper trading platforms use delayed data feed. You should always focus on using real-time market data for trade simulations. This applies more strictly for people who want to start with day trading.

Maintain Clean Trading Data

You must always maintain clean trading records so that you can use it to learn and implement the knowledge in new trading strategies. It doesn’t matter how you performed with your paper account. You can always learn from it if you incurred losses, you can learn to avoid the same mistakes, and if you make profits, you can replicate your strategies. 

Know Your Trading Platform

You must be aware of all the shortcuts and tricks related to the trading platforms you are choosing. This will help you trade well and make proper use of your trading platforms. These hacks and tricks here are related to the application you’ll be using and don’t imply unethical means to practice trading.

Don’t Enter Into Trading Competitions

Entering into trading competitions is a big no-no. Trading competition on virtual platforms using virtual money won’t help you assess the gravity of the situation that you’ll face in a live trading session. Your goal here will be to win the contest instead of learning new strategies to grow sustainably. Trading contests also have unrealistic rules, like using a specific trading instrument.

Source – https://digitalgurujie.com/you-need-to-know-before-your-start-paper-trading/

]]>
https://digitalswarn.com/10-things-you-need-to-know-before-your-start-paper-trading/feed/ 0 304
How to Use Ubersuggest chrome extension for SEO https://digitalswarn.com/how-to-use-ubersuggest-chrome-extension-for-seo/ https://digitalswarn.com/how-to-use-ubersuggest-chrome-extension-for-seo/#comments Thu, 25 Jun 2020 19:10:00 +0000 नमस्ते
सभी मैं स्वर्ण जैन। और आज मैं आपको कुछ ऐसी चीज़ों से परिचित कराना चाहता हूं जो Google पर आकर्षक कीवर्ड खोजने और अधिक एसईओ ट्रैफ़िक प्राप्त करने के लिए आपके जीवन को आसान बनाने जा रही हैं। 

यह Ubersuggest क्रोम एक्सटेंशन है। तो आप केवल क्रोम वेब स्टोर में भाग लें अन्यथा आप Ubersuggest chrome extension के लिए आप Google कर सकते हैं।

एक बार जब आप Ubersuggest में वेब स्टोर प्रकार के लिए क्रोम एक्सटेंशन के भीतर होते हैं, तो यह पहला परिणाम है और यह आपको विस्तार में ले जाएगा जो कुछ इस तरह दिखाई देता है जिसके दौरान आपको अधिक कीवर्ड विचार मिलते हैं। इसलिए, आप शायद एक बार सोच रहे हैं कैसे काम करता है। 

वैसे पहले यह मुफ़्त है इसलिए आपको एसईओ डेटा के लिए भुगतान करने की चिंता करने की आवश्यकता नहीं है। इसलिए जब भी आप Google में जाते हैं और आप स्टॉक जैसी क्वेरी के दौरान टाइप करते हैं, तो यह न केवल आपको ठीक-ठीक बताएगा, यहाँ Google पेज का कीवर्ड और टन है जिसे आप अपने परिणाम देखकर खुद पाएंगे।

और आप ठीक देख कर समाप्त हो जाएंगे, यहां वे सभी लोग हैं जो ऊपर से नीचे की रैंकिंग कर रहे हैं।

खैर, जो भी विस्तार होता है, वह मासिक खोज मात्रा, प्रति क्लिक की लागत और निश्चित रूप से प्रदान करेगा यदि आप क्लिक करते हैं तो सभी स्पाइक जैसे डेटा देख सकते हैं जब समय के साथ अधिक खोज होती है, समय के साथ कम खोजें तो आप देखेंगे मौसम। और आप यह भी देखेंगे कि कितने प्रतिशत क्लिक मोबाइल बनाम डेस्कटॉप थे।

आप यह भी देख सकते हैं, कि लोग एसईओ परिणामों पर कितने प्रतिशत क्लिक करते हैं, कितने प्रतिशत भुगतान किए गए परिणामों पर क्लिक करते हैं और जिस तरह से आप सभी पर कोई परिणाम नहीं क्लिक करते हैं।

किसी व्यक्ति के चौंकाने वाले टन किसी भी परिणाम पर क्लिक नहीं करते हैं। यह वास्तव में उपयोगी है क्योंकि अगर किसी शब्द को हजार बार या दस हजार गुना खोजा जाता है, लेकिन अगर 90 प्रतिशत लोग किसी भी चीज पर क्लिक नहीं कर रहे हैं।

वैसे इसका मतलब है कि आपको उस शब्द से इतना अधिक ट्रैफ़िक नहीं मिल रहा है। यह आपको खोज की आयु सीमा भी दिखाएगा।

यह महत्वपूर्ण है क्योंकि, यदि कोई शब्द 18 वर्ष से कम आयु के व्यक्तियों के टन से खोजा जाता है, तो इसका मतलब है कि, वे संभवतः भुगतान करने वाले ग्राहकों में परिवर्तित नहीं हो रहे हैं, क्योंकि जो लोग छोटे हैं, उनके पास आमतौर पर बहुत पैसा नहीं है।

निश्चित रूप से आप खोज मात्रा का अवलोकन देखेंगे, Google पर रैंक करना कितना मुश्किल है, Google पर भुगतान किए गए विज्ञापन स्पॉट के माध्यम से भुगतान करना और उसके लिए कितना मुश्किल है। और वास्तव में प्रति क्लिक खुरदरी लागत आप जिस भी मुद्रा और देश में हैं।

यदि आप एक अलग देश के क्रम में हैं और आप अपना मुद्रा परिवर्तन करते हैं तो आप बस सेटिंग में जाएंगे और फिर अपने देश को यहां बदल सकते हैं, आप किसी भी देश में टाइप कर सकते हैं और यह अपने आप को जानकारी के रूप में बदल देगा जब देश भी मुद्रा के रूप में बदल जाएगा इसमें प्रति क्लिक मूल्य शामिल है।

Ubersuggest आपको कुछ सामान्य डेटा प्रदान करेगा, विशिष्ट वेबसाइट और शीर्ष 10 के भीतर रैंक, उन्हें कितने प्रतिशत समर्थन की आवश्यकता है, उनका डोमेन स्कोर क्या अनुपात है।

डोमेन स्कोर शून्य से 100 तक एक मीट्रिक हो सकता है। वे वेबसाइट जितनी अधिक आधिकारिक हैं उतनी ही अधिक संख्या। इसलिए आम तौर पर आप कहते हैं कि शीर्ष 10 के भीतर के लोगों के पास बैक लिंक के टन हैं और एक उच्च डोमेन स्कोर का मतलब है कि यह होने वाला है।अब शेयरों की तरह एक शब्द यह हर समय बदलता है ताकि ऑनलाइन पृष्ठों के टन में लिंक न हों क्योंकि वे समाचार उन्मुख होते हैं, ताकि वे तीन घंटे पुराने इस तरह हो सकें। लेकिन कुछ अन्य शर्तें जिन्हें आप खोज सकते हैं, उनमें रुचि रखने वाले अधिक उम्र के हो सकते हैं।

उदाहरण के लिए, आइए मार्केटिंग शब्द को लें क्योंकि मैं मार्केटिंग इंडस्ट्री में हूं। सीपीसी में खोज मात्रा देखें, मैं सभी को देख सकता हूं, उतार-चढ़ाव देख सकता हूं, अगर कोई भी मौसम हो, तो लोग परिणामों पर क्लिक कैसे करते हैं या बिल्कुल भी क्लिक नहीं करते हैं।

खोजकर्ताओं की आयु सीमा निश्चित रूप से मेरे लिए महत्वपूर्ण है।

और मैं सब ठीक से देख सकता हूं, शीर्ष 10 में रैंक करने वाले औसत पृष्ठ में 586 बैक लिंक और डोमेन स्कोर 90 है। इसलिए मुझे यह पता चलता है कि यह कितना प्रतिस्पर्धी है, प्रत्येक परिणाम के तहत भी कितने लिंक URL पर जा रहे हैं ।

यह लिंक नंबर डोमेन नामों का जिक्र कर रहा है। डोमेन नामों का जिक्र करने का अर्थ है कि कितने अद्वितीय डोमेन इस URL से लिंक हो रहे हैं। इसलिए मैं डाउन एरो पर क्लिक कर सकता हूं और Ubersuggest क्या करेगा यह सही खींच लेगा और उस पेज पर लिंक करने वाली सभी साइटों की एक सूची है और आप उन सभी को देख सकते हैं जो आप उन्हें निर्यात कर सकते हैं और आप उनमें से किसी एक के लिए यह कर सकते हैं।

ठीक है, चलो अगले एक पर जाएं, ठीक है। यहाँ सभी लोग आपको हबस्पॉट से URL जोड़ते हैं। एक ही अवधारणा आप सामाजिक शेयर देखेंगे, आप डोमेन स्कोर देखेंगे, आप लिंक भी देखेंगे और यह दिखाता है कि सभी शर्तों के लिए, साथ ही जैसे ही आप Google से संबंधित स्क्रॉल करते हैं, इन संबंधित मार्केटिंग शब्दों को आप खोजों को देखेंगे। प्रति माह, मूल्य प्रति क्लिक और एसईओ कठिनाई।

मैं इसे मानता हूं SD। एसडी एसईओ कठिनाई के लिए खड़ा है, इस तरह से अधिक मात्रा में कमरा नहीं लेता है।

यदि आप अधिक जानकारी चाहते हैं तो आप उस पर क्लिक करेंगे और यह आपको Ubersuggest पर ले जाएगा। यदि आपने आपको Ubersuggest पहले देखा है, तो मैं आपको अधिक मात्रा में बोर नहीं करूंगा। और अगर आपने इसे नहीं देखा है, तो यह केवल एक आसान ऐप है जब भी आप किसी शब्द पर क्लिक करते हैं तो यह आपको जानकारी दिखाएगा और यह अधिक गहराई में जाता है।

]]>
https://digitalswarn.com/how-to-use-ubersuggest-chrome-extension-for-seo/feed/ 1 8
FREE TOP LEVEL DOMAIN FREE MAI KAISE LE https://digitalswarn.com/free-top-level-domain-free-mai-kaise-le/ https://digitalswarn.com/free-top-level-domain-free-mai-kaise-le/#respond Tue, 31 Dec 2019 10:15:00 +0000 Free top level Domain kha se lenge or kaise lenge wo bhi one saal ke liye to Chaliye mai aap ko bata deta hu.
Sab se pahle aap ko Domain Name ke bare me janna hoga domain 2 trah ke hote hai 1 Sub Domain Or 2 Custom Domain.

1. Sub Domain – Sub Domain use khte hai jo jisme pahle se kisi or domain ka name add hota hai jab koi waha se domain book karta hai to wo website aap ke Domain Name ke sath apna domain name bhi add karti hai


Use sub domain khte hai for example – blogspot.com or bhi bhut saari jo aap ko Free me life time ke liye sub domain provide krti hai.

2. Custom DomainCustom Domain wo hai jis me koi sub Domain add nahi hota or wo top leval Domain hota hai jise book karne ke liye aap ko kuch paise dene hote hai or usme aap ko Hosting bhi leni hoti hai jisse aap apni website bna sako.


To aap samajh gye honge ki domain kya hota hain to chalte hai apne aaj ke Topic pr
Custom top level Domain kaise buy kre 1 saal ke liye wo bhi free me to mai batata hu ki ek website hai jo top level Domain bhi free me provide kara deti hai par jisse mai buy karta hu free me Custom Domain wahi mai aap ko bta rha hu to us website ka nam hai Buy.ooo name ki ek website hai jis me aap ko .

OOO domain Free me mil jayega aap offical website pr Click krke jaa sakte hai click hare

Mai aapke liye kuch Screenshot share kr rha hu. Jisse aap achche se samajh jaoge ki free top level domain kaise purchase kare.


1. Sab se pahle aap ko Buy.ooo ki website pr jana hoga, Jaane ke liye link hai aap Click kar sakte hai

yaa fir ap google pr Search kar sakte hai Buy.ooo or us website ko open karle.

Screenshot

FREE TOP LEVEL DOMAIN | TOP LEVEL DOMAIN FREE MAI KAISE LE


2. Website open hone ke bad aap ko Domain Search baar mai aap ko jo bhi domain chahiye use Search kre or us ki Availability check kare


3.Uske baad aapke samne domain name aa jayega or aap ko dekhna hai ki free me domain name kaise buy kre

Dyan rhe ye ek primium domain hai
Abhi new hone ke karan ye domain free mai mil rha hai to free mai buy knre ke liye pura article padhe

4. Ab aapko Check Out pr click krna hai
Fr Apka Domain Apke Cart add ho jayega
Ab aapko Buy now pr click krna hai

5. Ab aapke samne jo window open hogi us mai niche diya coupon code apply krna hoga
Couppon Code: GETOOO
Coupan Apply hone ke baad aapka Total Amount ₹1699 se 0 ho jayega

6. Coupon Code apply hone ke baad.
Create a New Account pr Click krna hoga or new account bnana hoga
Esme apni saari details fil krni hai.
Ab aapki E-mail id pr 3-4 Mail aayenge Buy.ooo se 
Fr aapko E-mail mai jo link diye honge un pr click kr ke apni E-mail id or Domain verify krna hoga .
3rd E-mail mai Complete payment pr click krna hai. Click krne ke baad ek Error page open hoga or eska mtlb aapka domain aapka Domain Successfully buy ho jayega.


NOTE- Agar Appko hamari ye post Pasand Aayi to Comment Box mai Comment kr ke Mujhe Jarur  btaye or Appka koi Doubt yaa Question ho to Comment kr skte hai

]]>
https://digitalswarn.com/free-top-level-domain-free-mai-kaise-le/feed/ 0 13
Earn Via Time4Earn https://digitalswarn.com/earn-via-time4earn/ https://digitalswarn.com/earn-via-time4earn/#respond Tue, 31 Dec 2019 10:00:00 +0000 आज मैं आपको एक ऐसी वेबसाइट के बारे में बताने जा रहा हू जिसका का उपयोग कर $ 150 डॉलर कमाई कर सकते है भी कभी भी या कही भी इस ट्रिक आप अपने mobile से भी use कर सकते हैं।
इस वेबसाइट का नाम है Time4Earn.com

Time4Earn.com एक अंतरराष्ट्रीय कंपनी है जो लिंक शॉर्टनर सेवा नेटवर्क है यह Website Paytm को भी Support करती है और Paytm में पेमेंट भी करती हैं।

Earn Via URL Shortener-Time4Earn.Com
Time4Earn.Com


Time4Earn.com एक Url शॉर्टनर Shortner वेबसाइट है

Time4Earn.com वेबसाइट की मदद से आप किसी भी लंबी long Url को छोटा कर सकते है और साथ में पैसे भी कमा सकते हैं।
Time4Earn.com से आप Paytm पर भी अपना Payment ले सकते है।


Payout Rates

Time4Earn.com अलग अलग देश में बिभिन्न तरीको से Payment करती है।
Time4Earn.com भारत में 1000veiws का $6 देती है।
और सबसे कम $ 1 Paytm में payment करती हैं।

Minimum Withdrawal Amount

Withdrawal Method Minimum Withdrawal Amount
My Wallet $5.00
PayPal $5.00
Skrill $5.00
Bitcoin $5.00
Payeer $5.00
Bank Transfer $50.00
Paytm $1.00
UPI $5.00


time4earn website Referrals ka 20% कमीशन bhi deti hai, Agar aapne apne referral link se kisi or ko invite krte hai to aapko uski व्यक्ति की earning ka 20% amount aapko milega.


How to work on Time4Earn.Com


Time4Earn.com pr work krne ke liye aap kisi bhi important link ko Time4Earn.com se sort link ko generate kare or apne whatsapp group or facebook pr share kr krte rhe or aapki earning hoti rhegi. 

Agar aapke whatsapp pr groups join nhi hai to aap Play store pr whatsapp group search kre or aapko bhut se apps mil jayenge jinko use kr ke aap group ko join kr skte hai or Time4Earn.com se Earning krna aaj se hi shuru kr skte hai.


Time4Earn.com Za.gl se jyada payment krti hai.


Time4Earn.Com Requirement and Restrictions:

  1. Ek se Jyade Account nhi bnane hai
  2. Apne url pr Click nhi krna hai
  3. Apko galat tarike se traffic jaise VPN,Proxy ka use nhi krna hai
  4. Kisi bhi tarah ki Spaming yaa child porno-graphically,illegal content ka use nhi krna hain.

Za.gl से अधिक पैसे कमाने का तरीका 

मैं यह पर जो भी tips या तरीका बताने जा रहा हु इससे आप लोगो को Time4Earn.Com से पैसे कमाने में बहुत आसानी होगी

सबसे पहले आपको whatsapp और Facebook पर बहुत सारे Groups Join करने होंगे जिससे आपको अपनी link Share करने के लिए public मिलेगी और Internet पर आपको बहुत साड़ी Websites मिलेंगी जहाँ से आप whatsapp Groups को Join कर सकते हैं और जैसा की आप लोग जानते हैं की Facebook Groups or Facebook Pages की कोई कमी नहीं हैं तो अब आपको ये जितने ज्यादा से ज्यादा ग्रुप्स को Join करना हैं। 

इसके बाद अब आपको कुछ मजेदार और Interesting posts और मजेदार videos Time4Earn.Com से इनकी Link Short करनी है और आपने whtasapp और Facebook के Groups पर share करते रहना हैं 
जितने ज्यादा आपकी Click आपकी post और Videos पर होंगे उतनी ही आपकी Earning होगी 

Facebook Trick

Url shortner website से Facebook द्वारा पैसे कमाने का तरीका और Trick अलग हैं क्योकि इन website की links को फेसबुक पर शेयर नहीं कर सकते Facebook इन links को Spam समझता हैं इसलिए फेसबुक पर Share करने के लिए हम लोगो को दूसरी Trick का use krna होगा। 

सबसे पहले आपको Blogger.com पर जाना पड़ेगा और एक Blog बनाना पड़ेगा इस blog में आप अपनी Short की गयी url को लगा ले और कुछ ऐसे तरीके से लगाए की देखने वाला उस पर क्लिक करे
अब जो blog आपने बनाया है उस Blog की Link आपको Facebook पर शेयर करना हैं
Facebook से आप Unlimited पैसे कमा सकते हैं


Website pr jaane ke liye Click Here
]]>
https://digitalswarn.com/earn-via-time4earn/feed/ 0 14
Backlinks क्या हैं और यह SEO के लिए क्यों फायदेमंद हैं https://digitalswarn.com/backlinks-kya-hai/ https://digitalswarn.com/backlinks-kya-hai/#comments Tue, 31 Dec 2019 09:40:00 +0000
Aaj main aapko Backlinks ke baare main batane jaa rha hu.
  1. Backlinks kya hoti hain.
  2. Backlinks Kitne Types ki hoti hain.
  3. Backlinks ka Use kyo kiya jata hain.
  4. Backlinks kaise generate ki jaati hain.
Backlink search engine optimization mai sbse syjada use hone wala word hain.
Bhut saare Bloggers jo apni website bna rahe hai. Wo log  Backlinks ko smjh nhi paate.
मुझे आशा है कि इस post को पढ़ने के बाद आप Backlinks को समझ पाएंगे और यह भी जान पाएंगे कि वह SEO के लिए और आपकी online success(website yaa Blog) के लिए क्यों important है।

Ek website किसी  भी  दूसरे webpage के साथ link होता है, तो उसे Backlink कहते हैं. 
Backlinks ka matlab hai ki aap ke website ke page yaa post ko kisi or website se link krna hota hai to use Backlinks kahte hai.

Agar aap ke website yaa Blog main traffic nahi hota or aap ke website pr bhut kam views aate hai to aap apne kisi page ka Url(Link) kisi popular website me Comment krke post karte hai or us website ke owner ko aap ka page achcha lgta hai to wo approve kr deta hai or wo link jo aap ne comment mai dala hai wo us website main run krega or us wesite ke visitor aap ke bhi wesite pr jaa sakte hai or aap ke website pr bhi traffic aa jayega


Apne website ka Backlinks bnna bhut jaruri hota hai or Backlink aap ko apne website pr traffic lane mai help krti hai jis se aap ka post or website google main rank krta hai or aap ke website achche se work karti hain.

Types of Backlinks (Backlinks-कितने प्रकार की  होती हैं )

Link Juice-Jab kisi Website pr aap kisi bhi article yaa aap ki Website ko Homepage se link krte hai to wo link juice pass krta hai ye link juice article ki ranking main help krta hai or domain authority ko bhi improve karta hai. Agar app ek blogger hain to aap Nofollow tag ka use krke Link Juice ko pass hone se Rok sakte hai.

Link Juice-Jab kisi Website pr aap kisi bhi article yaa aap ki Website ko Homepage se link krte hai to wo link juice pass krta hai ye link juice article ki ranking main help krta hai or domain authority ko bhi improve karta hai. Agar app ek blogger hain to aap Nofollow tag ka use krke Link Juice ko pass hone se Rok sakte hai.


Nofollow Link-Jab koi Website kisi dusri website ko link karti hain to us par us link ke pass Nofollow tag hota hai or link Juice pass nahi kr pati hai page ki Ranking ke liye Nofllow links useful bhi nahi hote hai kiyu ki wo kuch bhi Contribute(योगदान) nhi krta hai.

Example-webmaster nofollow tag ko jab use karta hai jab wo kisi unriable site se link krta hai. Jaise ki agar aap dusre ke blog yaa website pr Comment kr link kr skte hai.


Do-follow link-By default wo sb links jo aap blog post yaa website main add karte hai wo sb do-follow links hote hai or yeh sb links juice pass krte hain.

Linking root Domains– Aap ki website pr kisi bhi unique domain se kitne Backlinks aa rhe hain ye sb usko refer krte hai yaa koi website aapki website se 10 baar link krti hai to use ek linked root damain consider kiya jayega.


Low Quality LinksLow Quality BackLinks we links hai jo ki harvested sites, automated sites, spam sites or even porn sites se aate hai. Yeh links bhut hi नुकसान पहुंचाते है यह कारण है की आपको Backlinks buy krte time सावधानी रखना चाहिए|


Internal linkswo links jo same domain ke अंदर ek page se dusre page ko link karte ho to unhe internal links kahte hain or खुद इस process ko करने को internal linking कहते हैं| 


Anchor Text-वे text jise hyperlink ke liye use kiya jata hain use Anchor Text कहते  hai. Anchor Text Backlinks tab अच्छे से काम करता हैं jab aap Prticuler Keyword ke liye rank krne ke liye Try(प्रयास ) kr rahe ho.

High Quality Backlinks kaise Bnaye

Awesome articles-अपनी website ko अच्छे se डिजायन करे or Awesome articles लिखें।
Commenting करना शुरू करें। क्योकि Comments Backlinks प्राप्त करने के लिए आसान और सबसे अच्छा हैं।

Site को Web directories में submit करें-अपने blog या site को web directories में submit करना Backlinks प्राप्त करने का एक और बढ़िया और सरल तरीका है। ये तरीका आज-कल popular नहीं है क्योंकि legal web directory find करना कोई सरल बात नहीं है। Especially आपको ऐसी web directories को avoid करना चाहिए जो आपको उनकी directory में शामिल करने के लिए अपनी website के लिए backlinks create करने को कहती हैं। 

]]>
https://digitalswarn.com/backlinks-kya-hai/feed/ 5 15
Facebook instant Article से ट्रैफिक प्राप्त करें https://digitalswarn.com/facebook-instant-article-%e0%a4%b8%e0%a5%87-%e0%a4%9f%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a5%88%e0%a4%ab%e0%a4%bf%e0%a4%95-%e0%a4%aa%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a4%be%e0%a4%aa%e0%a5%8d%e0%a4%a4-%e0%a4%95%e0%a4%b0%e0%a5%87/ https://digitalswarn.com/facebook-instant-article-%e0%a4%b8%e0%a5%87-%e0%a4%9f%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a5%88%e0%a4%ab%e0%a4%bf%e0%a4%95-%e0%a4%aa%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a4%be%e0%a4%aa%e0%a5%8d%e0%a4%a4-%e0%a4%95%e0%a4%b0%e0%a5%87/#comments Thu, 26 Dec 2019 01:00:00 +0000 क्या आप फेसबुक से अपने Blog/Website पर Traffic ला कर और भी ज्यादा पैसे कमाना चाहते हैं??
यदि आपका जबाब हां हैं तो आप पूरी post ध्यान से पड़े। 


एक blogger और Website Owner के लिए FB Instant articles एक वरदान है और अभिशाप भी

यह एक वरदान इसलिए है क्योंकि यह हमें Facebook से और ज्यादा ट्रैफिक देगा पर उसी समय एक अभिशाप भी है क्योंकि आप अपना email box और widgets नहीं दिखा पाएंगे जैसा आप अभी कर सकते हैं।यह कहने की जरूरत नहीं है की आप जितनी जल्दी Facebook Instant Article को अपनी वेबसाइट से integrate कर लेंगे उतना ही बढ़िया होगा।

आज मैं आपके साथ एक complete guide share करने जा रहा हूँ जिससे आप Facebook Instant Article को अपने blog के लिए आसानी से setup कर पाएंगे। 

यदि आप FB Instant Articles के बारे में नहीं जानते हैं तो चलिए मैं जल्दी से आपको इसके बारे में बता देता हूँ 

FB Instant article क्या होता है??

Instant Article, Facebook का एक ऐसा feature है जोकि articles की late loading की समस्या को सुलझाता है। instant article, HTML5 based document होता है जोकि एक fast performance in Mobile,storytelling capabilities, branded design, और एक customized visual display के लिए optimized होता है। 

आपको एक बार अपने blog या website के लिए instant articles को enable करन होगा, फिर जब भी आपके articles Facebook पर share होंगे, तो जो users mobile app पर Facebook चला रहे होंगे उन्हें, Instant article का icon दिख जायेगा. यह icon बताता है की यह article एक instant article है जो कुछ ही seconds में खुल जायेगा। 

आप में से बहुतों लोगो ने Facebook को mobile App से चलाते समय Facebook instant articles को जरूर देखा होगा. यदि नहीं तो आप Digital Guruji  के Facebook page को check कीजिये और आप  Facebook के mobile App से और आपको पता लग जायेगा की Instant Article कैसे होते है। 

Facebook Instant Articles को WordPress पर कैसे setup करें?

बस आपको बताये गए steps को follow कीजिये और जानिए कि आप Facebook Instant Articles को अपने  WordPress blog या website के लिए कैसे setup कर सकते हैं. आपको setup करने के लिए लगभग 15 minutes का समय लगेगा और एक दिन में आपकी website के लिए instant articles चालू हो जायेंगे. तो चलिए शुरू करते हैं।


    अपने Facebook account में login कीजिये.
    Instant Articles के page जाये और फिर sign up के button पर click कीजिये

    इस पर click करने से आप अगले page पर पहुँच जायेंगे जहाँ से आप अपना Facebook page select कर सकते हैं जिसके लिए आप instant articles tool को enable कर सकते हैं।

    • जिस page पर instant article को Enable करना हैं उस Page को select कीजिये और फिर “Enable Instant Articles” के button पर click कीजिये।

    • instant articles को enable करने के बाद, आप Instant Articles की page settings > Instant Articles में जाकर configuration page, को access कर पाएंगे


    अब आपको हमें नीचे दिए गयी Steps को Follow करना होगा-:

    1. अपना URL claim कर set कीजिये
    2. RSS feed को add कीजिये 
    3. Review के लिए submit कर दीजिये.
    अब हम official Instant Articles WordPress plugin से भी configure कर सकेंगे जिसके बारे में मैंने नीचे detail में दिया है. एक आम user हैं जिसे basic computer skills के बारे में पता होगा तो आप इस guide को आसानी से follow कर पायेंगे। 

    अपना URL claim कीजिये

    अब आपको “Claim your URL” के button पर click करे, फिर आपको एक meta tag मिलेगा जिसको आपको अपनी website के head tag में add करना होगा। 

    एक बार अपने meta tag को add करने के बाद, अपने WordPress के cache को clear कर दीजिये।

    अब फिर से “Claim URL” के button पर click करेंगे तो आपको एक success message मिलेगा। 

    RSS Feed और WordPress Official Facebook Instant Articles plugin को Setup करे

    Official Facebook Instant Article WordPress plugin को Download कर install कीजिये. यह plugin Facebook और कुछ developers के द्वारा बनाया गया है. Plugin की activation पर, एक feed generate हो जाएगी और आप इसे अपने domain name में /feed/instant-articles add करके check कर सकते हैं। 

    आप अपने Facebook page Instant Articles की settings में वापिस जाये और इस RSS feed को “Production RSS feed” में add कर दीजिये। 

    अब add करने के बाद Save कर देना हैं। 

    FB Instant Article plugin को configure करे

    • इस plugin को use करने के लिए आपको Facebook App ID और APP secret को add करना होगा। इसके लिए, आपको एक Facebook Application बनानी होगी, जोकि बहुत आसान है।

    • इस pr Click kr page पर जाईये और फिर “Add a New App” के button पर click कीजिये।

    • Popup window में website को option के रूप में चुनिए।

    • अब आपको “Create App ID” के button पर क्लिक करना होगा और next page पर, अपनी website के URL को बिना “HTTPS://” के paste कर देन है। 

    • Next पर click कीजिये और फिर instant article की App ID और App Secret दिखेगा

    • Save करने के बाद आपको अपनी नयी app को live करना होगा. App Review पर click कीजिये और फिर toggle को “yes” में बदल दीजिये इससे आपकी app live हो जाएगी।

    • Facebook Instant Article WordPress plugin में वापिस जाईये. अब App ID और App Secret को WordPress के plugin के अंदर paste कर देना है।

    • then “Next” पर click करे और आपको Facebook में अपनी id login करने का option दिखेगा। उस पर click कीजिये, अपनी ID से login कीजिये और drop-down में से अपना Facebook fan page select कीजिये। 
    इसके बाद आपको कुछ Steps कर के Logo डालना होगा और बस Save पर क्लिक कर दे। 
    Save करने के बाद कुछ Tricky काम करना होगा क्योकि आपको Review के लिए कम से कम 10 Posts को Review के लिए देना होगा। 

    • अब आप अपने WordPress dashboard में वापिस जाईये.
    • 10 या उससे ज्यादा already published blog posts को edit mode में open कर लीजिये।
    • अब उन सभी को save कर ले और इन सभी articles को Facebook Instant Articles RSS feed में भेज दीजिये। 

    एक बार ये हो जाये, आप अपने articles को review के लिए submit कर सकते हैं.


    RSS feed से auto-publish को enable करे

    आपके submission को approve होने के लिए लगभग 3 से 4 दिन का समय लगता है। 
    और एक ज़रूरी बात, आपको RSS feed से auto publishing करने के लिए enable करना होगा।

    ]]>
    https://digitalswarn.com/facebook-instant-article-%e0%a4%b8%e0%a5%87-%e0%a4%9f%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a5%88%e0%a4%ab%e0%a4%bf%e0%a4%95-%e0%a4%aa%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a4%be%e0%a4%aa%e0%a5%8d%e0%a4%a4-%e0%a4%95%e0%a4%b0%e0%a5%87/feed/ 4 16
    TOP 10 ETHICAL HACKING APPS(No-Root) https://digitalswarn.com/top-10-ethical-hacking-appsno-root/ https://digitalswarn.com/top-10-ethical-hacking-appsno-root/#respond Wed, 25 Dec 2019 23:30:00 +0000 दोस्तों आज  लोगो के किये टॉप 10 Ethical Hacking Apps लाया हु। ये Apps आपकी बहुत हेल्प कर सकते हैं।

    10) Evil Operator

    Evil Operator 


    इस Application के द्वारा आप किसी भी 2 Numbers पर Call करवा सकते हैं। जी हाँ दोस्तों Evil operator App से एक साथ किसी भी दो नंबर्स पर आपस में एक साथ कॉल कर सकते हैं।

    For Example
    आपकी की कोई Girlfriend है और इसका कोई और दूसरा Boyfriend है तो Evil Operator App से आप अपनी Girlfriend और उसके दूसरे Boyfriend को एक साथ आपस में call करवा सकते है और वो समझेंगे  की उसने Call किया और आप उन दोनों के बीच में होने वाली बात को इस Evil Operator की मदद से Record भी कर सकते है।

    Evil Operator को Download करे।
    Evil Operator
    Evil Operator APK 

    9) Stalk Scan

    Stalk Scan
    Stalk Scan

    Stalk Scan की मदद से आप किसी भी Facebook Friend की Information निकल सकते है। जैसे उसने कितनी Pics को Like किया है , कब लिखे किया है और कब कब अपनी Profile Picture को Upload किया हैं। Stalk scan से आप Like ,Comment जैसे बहुत सारी information ले हैं। इसके लिए आपको उस profile की लिंक को कॉपी करके paste करना होगा। 

    Stalk Scan को Download करे।
    Stalk Scan
    Stalk Scan

    8) TextMe Up Free


    TextMe Up Free App की मदद से आप दुनिया में किसी को भी Call और Text Massege कर सकते है। TextMe Up Free से आप Unlimited कॉल कर सकते हैं और TextMe Up Free का बेनीफिट ये है की जब आप TextMe Up Free App से Call करते है तो आपका Mobile Number Show नहीं होता है मतलब ये है की आप जिसको कॉल करेंगे उसको  पता नहीं चलेगा की मुझे किसने Call किया हैं।

    TextMe Up Free को Download करने के लिए यह क्लिक करे।
    TextMe Up Free 

    7) Hacker Spoilet ethical Hacking

    इस App की Help से आप Ethical Hacking सीख सकते है। इस Application की मदद से हैकिंग कैसे होती है, हैकिंग कितने प्रकार की होती है ऐसे ही बहुत सी एथिकल हैकिंग सीख हैं। 

    इस Application को आप Black Market से Download कर सकते हैं। 

    6) Labalabi For Whatsapp

    Labalabi App की मदद से आप किसी भी Whatsapp यूजर को को unlimited मैसेज भेज सकते हैं। आपको बस Labalabi Application में जिसको मैसेज भेजना उस user का Whatsaap नंबर और कितने मैसेज भेजना हैं वो सेलेक्ट करना है और send करना है।

    Labalabi को Download करे।
    Labalabi


    5) FileChef-OpenDirectory Finder

    File Chef
    File Chef

    File Chef की हेल्प से आप कुछ भी search कर सकते हैं। जैसे आपको कोई Song या कोई Image search करनी है तो आपको बस केटेगिरी को सेलेक्ट करना होगा बस और जो Search करना है Type कीजिये और और Search के बटन पर क्लिक कर दीजिये। File chef एक ओपन डायरेक्टरी हैं इसमें दुनिया भर की सारी Search कर सकते हैं।

    File Chef को Download करे।
    File Chef
    File Chef

    4) Hide Screen (Sneak a cellphone)

    Hide Screen
    Hide Screen

    Hide Screen का बेनीफिट ये  है की आप इसकी मदद से एक तो मोबाइल की बेटरी बचा सकते है और दूसरा ये है की आप Hide Screen app की हेल्प से अपने Mobile की Screen को Black कर सकते है और स्क्रीन ब्लैक होने के बाद कोई Button(Volume-+) काम नहीं करेगा और आपका दोस्त समझेगा की मोबाइल ख़राब हो गया हैं। Hide Screen को deactivate बंद करने के लिए Simpli अपने Mobile की Screen पर Double 2 बार Click करना है। इससे Hide Screen App बंद हो जायेगा और पहले जैसे स्क्रीन आ जाएगी।

    Hide Screen को Download करे।
    Hide Screen
    Hide Screen

    3) Nipper – Toolkit Web Scan

    Nipper Application
    Nipper Application

    Nipper Application की हेल्प से किसी भी Website को scan कर सकते और उस वेबसाइट की कमजोरी और Loop Hole को देख सकते है। Nipper Toolkit से आप अपनी या किसी की भी website की कमजोरी को स्कैन कर सकते हैं और उस कमजोरी को ठीक करके hack होने से बचा सकते हैं। 

    इस App से website के बारे में सारी information जान हैं। बस आपको  वेबसाइट  Link कॉपी करके इस App में Paste करना होगा। 

    Nipper को Download करने के लिए यह क्लिक करे।
    Nipper Application

    2) Cyber Security Training & Kali

    Cyber Security Training App की हेल्प से आप Ethical Hacking से जुडी किसी भी Information को हासिल कर सकते हैं और इसमें एथिकल हैकिंग के कोर्स भी उपलब्ध है जिससे आप ethical hacking भी सीख सकते हैं।

    Cyber Security को Download करे।
    Cyber Security
    Cyber Security

    1) Call Free – Call to Any Mobile Number worldwide

    इस App की हेल्प से आप दुनिया में कही भी call कर सकते हैं। इस App से कॉल फ्री में होती हैं। 
    call free 

    DISCLAIMER: This website DOES NOT Promote or encourage Any illegal activities, all contents provided by This website is meant for EDUCATIONAL PURPOSE only.
    ]]>
    https://digitalswarn.com/top-10-ethical-hacking-appsno-root/feed/ 0 17
    NEFT,IMPS और RTGS में क्या अंतर है-2020 https://digitalswarn.com/neftimps-%e0%a4%94%e0%a4%b0-rtgs-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%95%e0%a5%8d%e0%a4%af%e0%a4%be-%e0%a4%85%e0%a4%82%e0%a4%a4%e0%a4%b0-%e0%a4%b9%e0%a5%88-2020/ https://digitalswarn.com/neftimps-%e0%a4%94%e0%a4%b0-rtgs-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%95%e0%a5%8d%e0%a4%af%e0%a4%be-%e0%a4%85%e0%a4%82%e0%a4%a4%e0%a4%b0-%e0%a4%b9%e0%a5%88-2020/#respond Wed, 25 Dec 2019 20:00:00 +0000


    भारत India धीरे धीरे Digital बन रहा है, ऐसे में Banking Sector भला क्यूँ पीछे रह सकता हैं। अगर आपको पता नहीं है की Digital India क्या है तो आप यहाँ से जानकारी ले सकते है. Banking का Use आजकल घर बैठे भी हो रहा है जिसे Mobile Banking भी कहते हैं।

    आप ये services जैसे NEFT, RTGS और IMPS को आप अपने mobile Banking से भी कर सकते हैं। अब वो दिन ख़त्म होते नजर आ रहे हैं जब लोगों को Banks में लम्बी लाइनों में खड़ा होना पड़ता था किसी एक छोटा काम के लिए भी बाहर से ऐसा लगता था की मानो ये bank नहीं कोई राशन की दुकान है जहां पर लोग आनाज लेने आये हो।

    आप भी ऐसा कर सकते हैं लेकिन आप ऐसा करके अपना ही time waste करेंगे। जब आप अपने Mobile Banking और Internet Banking से या किसी ऐसी जगह से जहाँ पर internet connection हो वहीँ से अपने काम को Easilly कर सकते हैं।

    आपके Bank की Internet Banking के माध्यम से आप अपने bed पर लेते हुए भी बहुत से banking services का फायदा ले सकते हैं। इसके माध्यम से आप अपने credit cards के bill, personal loan के लिए application. Mobile , DTH recharge भी कर सकते हैं। इसके लिए आपको अपने घर से बहार जाने की कोई भी जरुरत नहीं है।


    Real Time Gross Settlement (RTGS), National Electronic Funds Transfer (NEFT), और Immediate Payment Service (IMPS) ने Payment process को बहुत ही simple कर दिया है। ऐसे services की हम जितनी भी तारीफ करें वो कम हैं क्यूंकि RTGS,NEFT और IMPS हमे transactions को आसान,safe ढंग से और जल्दी करने में हमारी सहायता करती हैं। 


    आप में से बहुत सारे ऐसे लोग होंगे जो की इन services का रोज़ Use करते होंगे, लेकिन आपको इन सभी services के बीच का अंतर नहीं पता होगा तो आज आप लोगों को इस विषय में पूरी जानकारी दूंगा। तो चलिए जानते हैं की आखिर IMPS,RTGS और NEFT में क्या अंतर क्या है।

    मनी ट्रांसफर करने के अलग-अलग तरीके

    आज के समय में लोग अपने जीवनकाल में एक या उससे अधिक online money transfer modes का इस्तेमाल करते ही हैं। आधुनिक Mobile technology-based banking के मदद से अब सभी लोग इस technology का भरपूर फ़ायदा उठा रहे हैं। Online banking के मदद से अब वो ये सारे काम घर बैठे भी कर रहे हैं।

    जब बात money transfer की आती हैं और एक account से दुसरे account तक पैसे भेजने होते हैं तब ऐसे में ज्यादातर banks बहुत सारे options देती हैं जो की बहुत से कारणों जैसे की customer की जरूरत पर आधारित होता है।

    इस समय की बात करें तो ऐसे बहुत से Banks है जी की Money transfering methods उपलब्ध करा रही हैं जैसे की National Electronic Funds Transfer (NEFT), Real Time Gross Settlement (RTGS), Immediate Payment Service (IMPS), और भी बहुत सी अलग अलग जैसे की value of the transaction, Transfer की Speed, service की availability, और दुसरे factors पर ये निर्भर करती है और लोग किसका इस्तमाल करते हैं।


    ये सारे transfering methods आपको अलग अलग प्रकार के features और flexibility देते हैं। चूँकि इन सभी services के अपने ही advantages और disadvantages हैं, इसलिए वो customers को flexibility और convenience प्रदान करते हैं।  इसके साथ बहुत से banks के खुद के digital wallets हैं जो की online fund transfers करने के लिए additional methods उपलब्ध करते हैं।

    भारत में पैसे ट्रांसफर करने का तरीका

    आज की बात करें तो हम लोगो के पास ऐसे बहुत से fund transfer methods मौजूद है, जो Latest technology के Use और online service की demand के कारण ऐसे बहुत सी कम चीज़े बची है जिनको देखना अब बचा रह गया हो। 

    Bank और financial institutions से governing bodies, और private businesses तक सभी latest technology का इस्तेमाल use करते हैं जिससे ये customer, partners और vendors के बीच की दुरी को पूरी तरह से ख़त्म कर दिया है। 

    भारत में जिस तरह से online users की संख्या बढ़ रही है। इससे इस  बात को नकारा नहीं जा सकता की ज्यादा से ज्यादा लोग digitally transaction करने के लिए IMPS,NEFT और RTGS का उपयोग करेंगे।  ये services online पैसे send करने के लिए Online fund transfers और न केवल fast, efficient, और convenient होती हैं दुसरे manual methods, के मुकाबले online transfers ज्यादा superior और reliabile होते हैं। 


    यदि आप चाहें तो किसी भी service का इस्तमाल कर लें फिर वो चाहे NEFT, RTGS, or IMPS इनमें से कुछ भी हो, ये सारे fund transfer methods के हिसाब से काम करते हैं और जो individuals किसी व्यक्ति और businesses purpose से पैसे transfer करने के लिए कहीं भी और किसी भी समय पुरे विश्व में  हैं। 


    अब तो ज्यादातर banks अपने customers को Net Banking facility भी provide कर रहे हैं। एक computer या एक smartphone जिसमें internet की सुविधा हो, एक bank account holder fund transfer section को access कर किसी भी online banking services का इस्तमाल कर सकता है जो की bank के द्वारा दिए गए हों उन्हें bank जाने की जरुरत कोई नहीं है। 

    Fund Transfer के प्रकार

    अगर देखा जाये तो ऐसे बहुत सी services हैं जो funds को online transfer करने के लिए जैसे की digital wallets, UPI आदि हैं लेकिन इनमें से NEFT, RTGS, और IMPS बहुत ही common है और इन्हें सबसे ज्यादा fund transfer में काम में लाया जाता है। 

    अगर कोई individual fund transfer कर रहा है, तब वो individual व्यक्ति जो की fund transfer कर रहा है, उसे originator या remitter या Sender भी कहते है। उसके पास beneficiary (जिसे fund transfer करना हैं) की basic account details होना चाहिए।Details में account number, beneficiary’s का नाम, अकाउंट नंबर, IFSC, और branch का name आदि। 

    ये सारी जानकारी किसी भी transfer methods के लिए बहुत जरुरी है। ये उस sender के ऊपर निर्भर करता है जो की ये ensure करता है की fund transfer के लिए दी गयी सभी Jankari सही है या नहीं।

    किसी भी fund transfer methods को जानने से पहले उनके बीच के differences को समझने से पहले ये जरुरी है की इन payment systems के बीच के basics को पहले समझ लें। ये बहुत important factors हैं ये सभी fund transfer methods को एक-दूसरे से अलग करती हैं –


    1.  Amount – आपका Amount बहुत ही महत्वपूर्ण है ये तय करने के लिए की कौन से transfer methods का इस्तमाल किया जाये। आपके fund के value ही निर्धारित करती है की आप कोन सा transfering method इस्तमाल करें। 

    2.  Timings (service availability) – ऐसे कुछ methods है fund transfer के जो की user को 24/7 allow करते हैं online transfers के लिए वहीँ कुछ केवल specified time में ही allow करते हैं। इसलिए fund transfer करने से पहले ये बहुत ही जरुरी है की आप इन funds की timings के बारे में अच्छे से जान लें जो भी आप fund transfer method का इस्तमाल कर रहे हैं। क्यूंकि IMPS और NEFT  funds transfer methods को आप holidays में इस्तमाल नहीं कर सकते हैं। 

    3.  Fund Settlement Speed – सभी fund transfer methods की अलग अलग speed होती है। Fund settlement speed ये indicate दर्शाती हैं की किसी भी fund को settle पूरा होने में या benificiary के account तक पहुँचने में कितना समय लगेगा जब उसे एक बार initiate कर दिया गया हो तब ज्यादातर cases में लोग transaction speed को ही देखकर transfer methods का चुनते हैं लेकिन यहाँ एक बात ध्यान रखना चहिये की जितनी ज्यादा आपकी होगी उतना ही charge जयदा लगता हैं।


    NEFT,RTGS और IMPS के बीच में क्या अंतर है?

    Online transfer methods करने के लिए customer’s की eligibility और उन services का access जो की हर bank देता है। इसके साथ transation की limit, timings, settlement speed, और दुसरे factors इन online fund transfer method पर depend करते हैं। 

    इससे customer को ये पता चलता है की उन्हें कोनसा transfer method चुनना चाहिए। आज के समय में NEFT,RTGS और भारत में fund transfer करने के लिए IMPS सबसे ज्यादा popular methods है ।

    NEFT – इस method के हिसाब से funds को transfer batches के माध्यम से किया जाता है (जो की based होता है Deferred Net Settlement (DNS) पर ) और इसकी specific timing होती हैं। 


    अगर fund को transfer इसकी टाइमिंग के बाद initiate किया जाये तो वह next working day को settle किया जाता हैं। अभी की बात करें तब NEFT की fund transfer requests को 12 twelve batches में 8a.m से 7p.m तक weekdays में और Saturday को six batches में 8a.m से 1p.m तक किया जाता है। 

    NEFT की सुविधा Sundays और bank holidays में उपलब्ध नहीं होती है। एक बहुत ही बड़ी advantage है NEFT की कोई  individual व्यक्ति जो की छोटे fund transfers करना चाहते हैं उन्हें transaction fee और service charges के विषय में ज्यादा चिंता करने की जरुरत नहीं है। क्यूंकि एक छोटी सी fees से वो आसानी से अपने payment को transfer कर सकते हैं। 

    इसलिए NEFT एक बहुत popular और ज्यादा इस्तेमाल होने वाला method है online fund transfers के लिए। 

    NEFT के अंतर्गत transactions को आसानी से initiate और settle किया जाता है एक bank account किसी particular bank से दुसरे bank’s account तक India में किसी भी जगह और बिना किसी cost के, केवल standard charges ही देना होता है। 


    इसके साथ ये जरुरी है की दोनों banks में NEFT transfer network (NEFT-enabled) enabled होना चाहिए। इसके साथ यहाँ पर भी Beneficiary add करने के बाद ही fund का transfer किया जा सकता है। 

    RTGS – इन transfer methods के द्वारा fund transfer Rs.2 lakh से Rs.10 lakh तक किया जाता है, लेकिन इसका जो सबसे बड़ा फायदा है वो ये की RTGS एक fastest/real-time settlement Mode है। जैसे की Sender के Account debit होते हैं वैसे ही receiver के account पर funds credit पहुंच जाता हैं। 


    लेकिन इस के लिए दोनों banks में RTGS की enabled होनी चाहिए।  देखा जाये तो सभी banks जिनमे RTGS transfer network इनेबल्ड हैं और जो की RBI के द्वारा चलाया जाता है उनमें ये सुविधा उपलब्ध होती है।

    इसके साथ ये सलाह दी जाती है की individual को अपने bank से directly संपर्क करना चाहिए और इसके साथ उनके online banking section को बताना चाहिए जिससे की जान सके की वो RTGS payment system की सुविधा के लिए eligible हैं या नहीं। RTGS की transaction fee NEFT और IMPS methods की तुलना में ज्यादा होती हैं। 

    RTGS में minimum और maximum transation की limit होती है, लेकिन ये एक बहुत ही अच्छा माध्यम है ज्यादा fund transfer करने के लिए जिन्हें जल्दी अपने funds को transfer करना होता हैं। Efficiency,speed और reliability और भी बहुत सी चीज़े है जो की RTGS को एक बहुत popular online fund transfers का माध्यम बनाते हैं। 


    IMPS – fund transfer के लिए ये इस समय की सबसे ज्यादा popular और fastest methods है, दुसरे fund transfer के method bank holidays और off working hours के दोरान बंद होते हैं वहीँ IMPS निरंतर 24/7 work करता है जिससे आप fund transfer दिन के किसी भी वक़्त कर सकते हैं। 


    NEFT के तरह ही आप IMPS में भी कम value के funds को भी transfer कर सकते हैं और इसमें आप immediately funds को settle कर सकते हैं जो की इसे unique बनाती है। एक नज़र से देखा जाये तो IMPS,NEFT और RTGS की combined version के तरह काम करता है जहाँ sender को fund के size और service availability की चिंता नहीं करनी होती है और इसके साथ ही आपका funds भी बहुत जल्द transfer हो जाता है।

    IMPS की facility केवल internet और online banking services में ही प्रदान की जाती है। कुछ banks शायद इसे SMS-based IMPS service के तोर पर mobile banking users को देते हैं। भारत में कई digital wallets IMPS services का इस्तमाल कर एक account से उसके bank account तक पैसे भेजने के लिए करते हैं।


    IMPS भले ही immediate fund settlement facility देती है, लेकिन फिर भी इसकी transaction fee NEFT की तरह कम होती है। 

    मुझे पूरा भरोसा है की मैंने आप लोगों को NEFT,RTGS और IMPS के अंतर के बारे में पूरी जानकारी दे दी और में आशा करता हूँ आप लोगों को NEFT,RTGS and IMPS के बारे में समझ आ गया होगा।
    ]]> https://digitalswarn.com/neftimps-%e0%a4%94%e0%a4%b0-rtgs-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%95%e0%a5%8d%e0%a4%af%e0%a4%be-%e0%a4%85%e0%a4%82%e0%a4%a4%e0%a4%b0-%e0%a4%b9%e0%a5%88-2020/feed/ 0 18 IP Addresses क्या होते है https://digitalswarn.com/ip-addresses-%e0%a4%95%e0%a5%8d%e0%a4%af%e0%a4%be-%e0%a4%b9%e0%a5%8b%e0%a4%a4%e0%a5%87-%e0%a4%b9%e0%a5%88/ https://digitalswarn.com/ip-addresses-%e0%a4%95%e0%a5%8d%e0%a4%af%e0%a4%be-%e0%a4%b9%e0%a5%8b%e0%a4%a4%e0%a5%87-%e0%a4%b9%e0%a5%88/#respond Wed, 25 Dec 2019 07:00:00 +0000

    क्या आप जानते हैं की IP Address क्या होता है




    क्या आप जानते हैं की IP Addresses क्या होते है, और किसी का भी IP Address कैसे पता करे? इसका Full Form Internet Protocol Address हैं। इसे लोग IP number, Internet address के नाम से भी जानते हैं। 

    IP Address एक ऐसा Address होता है जिससे आपका Mobile या Laptop internet से connect होता है, दुसरे devices के साथ communicate कर पाता है। जैसे की नाम से ही पता चलता है की यह एक Address होता है। 


    अगर आपको IP Address क्या है, यदि ये पता नहीं है तो घबराने की कोई जरुरत नहीं है। क्यूंकि आप जैसे बहुत लोग है जो की computer और Mobile का इस्तमाल करते हैं लेकिन उन्हें ये नहीं पता है की आईपी एड्रेस से क्या होता है और क्या कर सकते है। IP Address को Internet का आधार कार्ड भी कहा जाता है, आम तौर पर यूजर को इसके बारे में जानना उतना जरुरी नहीं होता। लेकिन एक smart user बनने के लिए आपको इस technology के विषय में जानकरी रखनी चाहिए। 

    में आपको IP Address क्या है और कैसे काम करता है इसके बारे में पूरी जानकारी दूंगा। जिससे आपको ये तो पता चले की आखिर इस technology का use कैसे होता हैं, तो फिर चलिए time ना waste करते शुरू करते हैं और जानते हैं की IP address कैसे काम करते है और क्या होते है।

    आई पी एड्रेस क्या है (What is IP Address) Hindi 

    IP address का Full Form है Internet Protocol address यह एक identifying number होता है और एक DEVICE के लिए एक ही IP address होता हैं। एक IP address के होने से ये उस device को दूसरे device के साथ कम्युनिकेशन करने के लिए अनुमति देता है।

    IP address, को short में हम “IP” भी कह सकते हैं। यह एक unique address होता है जिससे की एक device को आसानी से identify किया जा सकता है। यह एक system को allow करता है दुसरे system के द्वारा recognize होने के लिए जो की Internet से connected होते हैं। वैसे देखा जाये तो IP address दो formats में होते हैं — IPv4 और IPv6.


    IP Address का Use क्यूँ किया जाता है?

    एक IP address किसी भी एक device को एक identity देता है। जैसे की एक घर या office को पहचानने के लिए उनकी एक specific Address होता हैं एक identifiable address के साथ, उसी प्रकार ही एक network में IP Addresses के माध्यम से devices को अलग-अलग differentiate किया जाता है। 

    उदाहरण के लिए अगर मुझे एक parcal या कोई सामान भेजना है अपने दोस्त को जो की एक दुसरे ही शहर या देश में रहता है। तो इसके लिए मुझे उसकी exact destination के Address पता होना चाहिए। केवल receiver का नाम ही काफी नहीं होता है, साथ में उसकी एक specific address भी होना चाहिए, जो की उस parcal में लिखा जाता है जिससे वह Parcal या सामान उस तक आसानी से पहुँच सके।


    जब कोई user कोई website enter करता है जैसे की like https://www.digitalgurujie.com/ किसी browser में, तब एक request भेजी जाती है उस page को load करने के लिए DNS servers को, जिससे वो DNS Server उस hostname (Digitalgurujie.com) को सर्च करता है उसके corresponding IP address (27.63.43.136) को पाने के लिए। बिना किसी IP address के, user का computer Internet पर कुछ भी सर्च नहीं कर सकता है। 


    IP Address कितने प्रकार के होते हैं?

    अगर आपने पहले कभी IP Addresses के विषय में सुना होगा तब आपको ये जरुर से पता होगा की IP Addresses के भी बहुत से Types होते हैं।

    Types of IP Addresses

    Private IP Addresses
    Public IP Addresses
    Static IP Addresses
    Dynamic IP Addresses

    IP Address के भी दो version होते हैं IPv4 address और एक IPv6 address.

    Private IP Address

    Private Ip Address को network के “inside” में Use किया जाता है, इस प्रकार की IP Addresses का इस्तमाल आपके devices को router और दुसरे devices के साथ communicate करने के लिए होता है किसी private network में IP Addresses को manually set/change भी किया जाता है या आपके router के द्वारा automatically ही assign हो जाता है। 

    Public IP Address

    इस प्रकार के IP Addresses का इस्तमाल Network के “outside” में किया जाता है, जिन्हें की ISP के द्वारा assign किया जाता हैं। ये वही main Ip address होता है जिसे आपके home या business network में Use किया जाता है दुनिया भरके devices के साथ communicate करने के लिए ये एक रास्ता प्रदान करता है। 
    आपके devices को ISP तक पहुँचने के लिए जिससे आप दुनिया भर के websites और दुसरे devices के साथ directly communicate कर सकते हैं अपने ही personal computer या मोबाइल से।  

    Dynamic IP Address

    एक IP address जिसे की  एक DHCP server के द्वारा assigned किया जाता है उसे एक dynamic IP address कहते हैं। 

    Static IP Address

    अगर एक device में DHCP enabled नहीं होती है या उसे DHCP server के द्वारा assigned नहीं जाता है तब IP address को manually assigned करना पड़ता है, इसी case में IP address को static IP address कहा भी जाता है।

    अपना IP Address कैसे पता करे

    अलग अलग devices और operating systems के IP address को ढूंडने के लिएको unique steps की जरुरत होती है। वैसे ही इसे (Public IP Address और Private IP Address) पाने के लिए अलग अलग steps होते हैं। 

    Public IP Address


    आपके Router के Public IP Address को ढूंडना बहुत ही आसान होता है, जिसके लिए आप कोई भी sites जैसे की WhatsMyIP.org, या WhatIsMyIPAddress.com का Use कर सकते हैं। ये sites सभी device के साथ काम कर सकते हैं जो की एक web browser को support करती है, जैसे smartphone, iPod, laptop, desktop, tablet, इत्यादि। 


    Private IP Address


    किसी device की private IP address को जानना मुश्किल होता है। 

    Windows में आप अपने device की IP address का पता Command Prompt से कर सकते हैं, जिसके लिए आपको बस ipconfig command का ही इस्तमाल करना पड़ेगा। 

    macOS(एप्पल) 
    आपकी local IP address को जानने के लिए आप command ifconfig का उपयोग कर सकते हैं । 


    iPhone, iPad, और iPod touch devices में आप private IP address को देख सकते हैं Wi-Fi Menu के Settings में इसे देखने के लिए, आपको 
    “i” button पर tap करना होगा। 


    local IP address को Android Devices देखने के लिए

    Settings > Wi-Fi, या Settings > Wireless Controls > Wi-Fi settings में जाना होगा। आपको पर उस network के ऊपर tap करना होता है जिससे आपको network की सभी information show होंगी जिसमें private IP address भी होता है। 

    IP के Versions (IPv4 vs IPv6)

    क्या आप जानते हैं की IP Address क्या होता है


    इसमें IPv4 पुराना version हैं वहीँ IPv6 उसका upgraded IP version होता है। इसको Upgrade करने का सबसे बड़ा कारण ये हैं की IPv6-
    IPv4 की तुलना में ज्यादा number की IP Addresses होती है। जहाँ अभी devices की तादाद इतनी ज्यादा है और वो constantly ही connected होते हैं internet के साथ, तब ऐसे में उन सभी की एक unique(किसी दूसरे से अलग ) address available होना बहुत ही जरुरी होता है। 


    अगर हम IPv4 addresses की बात करें तो इसमें केवल 4 billion unique IP Addresses (232) ही होते है, और माना की ये भी बहुत ज्यादा नंबर की addresses है, लेकिन आज के समय के लिए ये काफी नहीं है क्योकि आज प्रत्येक user के पास एक से ज्यादा अलग अलग device है जो की internet का Use करते हैं। 


    अगर हम practically देखे तो पूरी दुनिया में 7 billion से ज्यादा लोग हैं। अगर प्रत्येक लोग एक भी device का इस्तमाल करें तब भी IPv4 उन्हें sufficient IP address प्रदान करने में सक्षम नहीं है। 


    वहीँ दूसरी तरफ IPv6 करीब 340 trillion support ip adress को support करता है,  इसका मतलब की अगर पृथ्वी का प्रत्येक इन्सान भी लाखों devices को internet के साथ connect करेगा 

    भी IP Addresses  में कोई कमी नहीं होगी। 

    ज्यादा IP Addresses को देने के साथ साथ IPv6 और भी बहुत से  benefit प्रदान करता हैं जैसे की-

    ये efficient routing होती है
    साथ में easy administration भी होता है
    ये built-in privacy भी प्रदान करती है।

    जहाँ IPv4 होती है वहा एक 32-bit numerical number में जो की एक decimal format में लिखे हुए होते हैं, जैसे की 203.278.148.81 या 192.138.0.1. वहीँ IPv6  में trillions की संख्या में Ip addresses होती है, इसलिए उन्हें hexadecimal के format में display किया जाता है, जैसे की 3fge:1800:4645:3:100:l8ff:ee21:97cf. ]]> https://digitalswarn.com/ip-addresses-%e0%a4%95%e0%a5%8d%e0%a4%af%e0%a4%be-%e0%a4%b9%e0%a5%8b%e0%a4%a4%e0%a5%87-%e0%a4%b9%e0%a5%88/feed/ 0 19 Google Adsense Vs Affiliate Marketing Kya Best Hai? (Hindi) https://digitalswarn.com/google-adsense-vs-affiliate-marketing-kya-best-hai-hindi/ https://digitalswarn.com/google-adsense-vs-affiliate-marketing-kya-best-hai-hindi/#respond Wed, 25 Dec 2019 01:00:00 +0000


    Website, Blog,YouTube se online earning karne ke liye Google AdSense and Affiliate Marketing Program bhut ache source ban gye hai. Bhut se log Website/Blog ke jariye internet se paisa kama rahe hai aur bhut se log struggle kar rahe hai in dono me se konsa better hai. Isiliye aaj main is article me Affiliate Marketing or Google Adsense Me Kya Best Hai. ke bare me details ke sath btane jaa raha hu.

    हालाँकि,bhut se logo ko internet se paise kamane ki baat fake(Galat) lagti hai lekin bahut se blogger aur youtuber aaj ke time me internet se lakho rupaye kama rahe hai, ye bat alag hai ki sabhi logo ko isme success nahi mil pati hai.

    Lekin jo people kamaa rahe hai wo jarur sochte hai ki,


    • AdSense and Affiliate Marketing Me Kya Best Hai
    • Affiliate Marketing aur Google AdSense Me Kya Antar Hai
    • Google AdSense Ke Fayde Aur Nuksan
    • Affiliate Marketing Se Fayde Aur Nuksan
    • Dono Me Se Kisse Jyada Income Ho Sakti Hai
    In sabhi se related all questions ke answer aapko is post me mil jayenge.

    Google AdSense and Affiliate Marketing Me Kya Acha Hai?Complete Guide in Hindi

    Yaha main aapko google adsense, affiliate marketing or inke pros and cons ke bare me details mai btaunga, post padhne ke bad aapko aasani se samajh aa jayega ki in dono me se aapke liye kya achha rhega?

    Google AdSense – A Quick Overview in Hindi


    Google AdSense ek advertising plateform hai jise google ke dwara banaya gya hai. Google Adsense se aap apni Website par content and targeted audience,automatic text, image, display, video and interactive media advertisements ko display kar sakte ho.


    Online earning karne ke liye google adsense sabse jyada famous aur sabse jyada use hone wala advertising plateform hai. Adsense se earning karne ke liye aapko adsense pr account bana kar apni site par ad lagane hai or bus aapki earning start ho jayegi.
    Aap apni website par sidebar widget me,layout me, post area,header area,or footer area me ads dikha kr earning kar sakte ho. Lekin ad placement karne se phle aapko adsense policy dyan se follow karni hogi.
    Google ko bahut sari companies apne products ko promote karne ke liye ads————————————– provide karti hai aur google ko advertiser se jo commission milta hai uska 68% google publisher ke sath share kar deta hai or baki apne paas rakh leta h.
    Google ke paas itne jyada ad offers rhte hai ki aapki site par kisi bhi type ka content ho uske liye ads mil hi jayega. Google iska khayal rakhega iske liye publisher ko kuch karne ki jarurat nahi hoti hai.
    shuruaat me google adsense se paise kamane ka bahut hi achha tarika hai, aap starting me bina kisi knowledge ke iski help se apne blog ke jariye se achhi income kar sakte ho.

    Google AdSense Use Karne Ke Fayde

    1. Google adsense pay per click(PPC) par kaam karta hai eska mtlb per click ke hisaab se paise deta hai.
    2. Appko Kisi bhi product ko sell karne ki jarurat nahi hai, reader/Visiter ke ads par click karne se paisa milega.
    3. Best selling products or ads par research karne ki jarurat nahi hoti hai, google ye sab khud control kar leta hai.
    4. Koi bhi google adsense ke liye apply kar sakta hai bs uske paas apni ek website honi chahiye.
    5. Aap ads ke impression ke against earning kar sakte hai.
    6. Aapke readers ko mtlb jo aapki website ka user hai unke interest ke hisab se ad dikhaye jayenge.
    7. Aapko bas apni site par content yaa Blog likhne aur adhik se adhik traffic lane ki jarurat hai.Jitna traffic utni income.

    Google AdSense Use Karne Ke Nuksan

      1. Adsense ke ads se website ki speed slow ho jati hai.
      2. Aap niche product ad choose nahi kar sakte.
      3. Aap adsense ads ko optimize nahi kar sakte.
      4. Google adsense aapko policy violation karne par bhi banned kar sakta hai.
      5. Aap aisa ad network use nahi kar sakte ho jis ko google allow nahi karta ho.
      6. Aapko koi email support nahi milta hai.
      7. policy violation karne par approve milna mushkil.
      8. Aapko only google par biswas karna hoga,google aapki website ka monetize ad network hoga.
      9. Adsense ads se aapke audience disturb ho sakte hai aur aapka traffic bhi down ho sakta hai.
      Google adsense ki bahut si kamiya hai lekin fir bhi google adsense baki sabhi earning methods ki tulna me bahut hi badhiya hai, aap kisi bhi type ka blog bana kar adsense ads laga kar earning kar sakte ho.

    Affiliate Marketing – A Quick Overview in Hindi

      Google adsense kuch companies apni khud ki official website ke through affiliate program service offer karte hai. Jisme publisher ko unke product ko promote karna hota hai aur badle me unhe kuch commission milta hai.
      Ye commission $5 se le kar 5,000 ya isse bhi jyada bhi ho sakta hai. Amazon,ClickBank, WordPress ke Themes or Plugins, Web Hosting Providers, Plugins inke sabke liye affiliaye program available hai. Aap apni website ke content ke hisab se affiliate product ko select kar use sakte ho.
      Jab koi user aapki affiliate link par click krke product buy karega to aapko commission milega aur ek limit(rs1000 Amazon India) ke bad aap payment bhi le sakte ho.
      Aapko jis company ke products ko promote kar paise kamane hai to aapko uske name ke bagal me affiliate likh kar google search karo to uski affiliate service wale page ka link mil jayega.
      Affiliate marketing ek professional blogger, ke liye sabse achha tarika hai apne blog se paisa kamane ka, lekin aap unti hi earning kr paoge jitna ki aapko experience hoga.
      Ek newbie blogger ke liye affiliate marketing me success hona itna aasan nahi hota hai, aapko kuch time aur researching ki jarurat hogi nhi to aap fail ho jaoge.

    Affiliate Marketing Use Karne Ke Fayde

      1. Aap apne niche ke hisab se jo aapko pasand ho wo ad choose kar sakte ho.
      2. Aapki jitni jyada sell hongi utni hi income hogi, isme sells ki income uper-niche nahi hoti so aap easily sells ke hisab se earning calculate bhi kar sakte ho.
      3. Income extensive hogi aur ye aapko bahut saalo tk pay krti hai. Aap ise long term money making source bhi kh sakte hai.
      4. Aapko $5 to $5000 tak ka commission dene wale provider mil jayenge lekin aapko apni audience ke level ka khyal rakhna hoga.
      5. Tode time me jyada earnging karne ke liye affiliate marketing best way hai.
      6. Aapki website,blog par kam traffic se bhi jyada income ho sakti hai.
      7. Income site traffic se nahi user trust par depend karti hai, Jitne log aap par trust karenge utni hi sell milengi.
      8. Sabse bada fayda koi bhi aapko ban, stop nahi kar sakta. Aap apni marzi se site monetize kar sakte ho.

    Affiliate Marketing Use Karne Ke Nuksan

      1. Affiliate marketing me safalta pane ke liye marketing knowledge aur experience bhi hona chahiye.
      2. Aapke pas targeted and trusted traffic hona chahiye.
      3. Aapki Earning Product ke sell hone par hogi, sirf click hone se kuch nahi milega.
      4. Aap agle din same earning nahi kar sakte,ho sakta hai ki ek din me 1 lakh dollar kama le aur ho sakta hai 1 din me 1 dollar bhi na kama paye.
      5. Apne reader ke sath trust relation ko banaye rakhne ke liye aapko keval behtar product ko promote karna hoga.
      Ye sach hai ki aap affiliate marketing se har din ek jaisi income nhi kr sakte hai lekin adsnese ki tulna me aap isse jyada Profit earn kr sakte ho, aap 1 din me hazaar dollar kama sakte ho.

    Google AdSense V/s Affiliate Marketing Me Kya Difference Hai

      1. Google adsense pr aapko ek website ke liye only ek bar account banana padta hai jabki affiliate marketing me har product ke liye alag affiliate program join krna hota hai.
      2. Google adsense per click pr pay krta hai lekin affiliate program me per sell pr income hoti hai.
      3. Google adsense se ki earning ko only bank account me receive kr sakte hai lekin affiliate marketing me different methods hoti hai.
      4. Google adsense se ads se income hoti hai lekin affiliate marketing se product promote karne par.
      5. Google adsense se low traffic pr income nahi kr sakte jabki affiliate marketing se low traffic me bhi income kar sakte hai.
      6. Adsense ke liye website/blog pr orgranic traffic aur affiliate marketing ke liye targeting traffic hona chahiye.
      7. Google adsense ke liye traffic jaruri h or affiliate marketing ke liye user trust jyada important hai.
      8. Google website ke hr page ke content ke according ads dikhata hai jabki affiliate marketing me manually content ke liye ads lagana hota hai.

    Google Adsense or Affiliate marketing Dono me kafi antar hai aur dono ke alag alag fayde aur nuksan bhi hai. Ab aapke liye kya best hai Wo aapko choose karna hoga.


    In My Case, Google AdSense vs Affiliate Marketing

      Google adsense meri site ka ek achaa income source hai lekin sach ye bhi hai ki main iske sath khush nahi hu, isse na sirf site slow hoti hai balki site readers ko problem bhi hoti hai.
      Aap ek blogger ho suppose, aapko ads free website achi lagti hai ya ads wali, ads-free wali hai na! kyuki fast load hoti hai aur unwated ad dekhne ki jarurat bhi nhi hoti h.
      Is hisab se affiliate marketing jyada better hai.main aur aap hindi blogger hai, hindi content ke liye itne affiliate product available bhut hi km hote hai aur Ek hindi blogger ke liye adsense hi achaa hai, iske bare mai main apko already bta chuka hu.

    Post Summary

    Agar aap newbie ho aur kuch time phle hi blogging shuru ki hai to aapke liye google adsense best hai, lekin iske liye aapki website google policy ko follow karne wali honi chahiye.
    Agar aap bhut time se blogging kr rahe ho aur blogging ka achha experience bhi rakhte hai to aapko affiliate marketing study kr jarur hi iska istemal krke dekhna chahiye.
    ]]>
    https://digitalswarn.com/google-adsense-vs-affiliate-marketing-kya-best-hai-hindi/feed/ 0 20